UP Bijli Sakhi Yojana 2022: बिजली सखी योजना ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व लाभ

UP Bijli Sakhi Yojana Online Registration 2022 | यूपी बिजली सखी योजना आवेदन फार्म, उद्देश्य, लाभ एवं जरूरी दस्तावेज | UP Bijli Sakhi Yojana Application Form

यूपी बिजली सखी योजना 2020 से योगी सरकार द्वारा चलाई जा रही है। इस कार्यक्रम के माध्यम से देश के ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को बिजली बिल जमा करने के लिए रोजगार के अवसर प्रदान किए जाते हैं। देश में इस तरह के कार्यक्रम को लागू करने के दो फायदे हैं। पहला, ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली बिल जमा करना सुविधाजनक है, और दूसरा ग्रामीण महिलाओं की रोजगार की स्थिति बेहतर है। उसकी मासिक आय 8,000 रुपये से 10,000 रुपये तक है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से UP Bijli Sakhi Yojana 2022 से जुड़ी सभी जरूरी जानकारियां विस्तार से बताएंगे।

UP Bijli Sakhi Yojana

UP Bijli Sakhi Yojana 2022

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा राज्य के स्वयं सहायता समूहों और राष्ट्रीय आजीविका मिशन से जुड़ी महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए यूपी बिजली सखी योजना शुरू की गई थी। योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को बिजली बिल भरने के लिए घर-घर जाकर रोजगार मिलता है। कार्यक्रम के तहत 15,310 महिला स्वयं सहायता समूह के सदस्यों का चयन किया गया।

प्रेरणा पोर्टल यूपी

वर्तमान में, उनमें से 5,395 सक्रिय महिलाएं हैं, जिन्होंने बिजली बिलों में 625 करोड़ रुपये एकत्र किए हैं। यूपी बिजली सखी योजना 2022 के तहत वॉलंटियर्स को घर-घर जाकर मीटर रीडिंग और बैंकिंग ऐप पर बिल जमा करने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। वर्तमान में यह कार्यक्रम राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में हजारों महिलाओं को बेहतर आजीविका प्रदान कर रहा है। परिणामस्वरूप उनमें आत्मविश्वास का विकास हुआ और वह भी शहरी क्षेत्रों की महिलाओं की तरह प्रगतिशील दिशा में आगे बढ़ीं।

यूपी बिजली सखी योजना 2022 हाईलाइट

योजना का नाम यूपी बिजली सखी योजना UP Bijli Sakhi Yojana
आरंभ की गई मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा
लाभार्थी स्वयं सहायता समूह एवं राज्य आजीविका मिशन से जुड़ी महिलाएं
उद्देश्य महिलाओं को रोजगार प्रदान करके आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाना
राज्य उत्तर प्रदेश
साल 2022
योजना में कुल जिले 75 जिले
आवेदन प्रक्रिया Online/Offline
ऑफिशियल वेबसाइट https://up.gov.in/en

UP Bijli Sakhi Yojana 2022 की प्रोग्रेस रिपोर्ट

योजना के तहत राष्ट्रीय स्वयं सहायता समूहों की 15,310 महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए चुना गया। इसके लिए, यूपी पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (यूपीपीसीएल) ने स्वयं सहायता समूह के सदस्यों को बिल जमा करने की अनुमति देने के लिए राज्य भर के 75 जिलों में राष्ट्रीय ग्रामीण जन आजीविका कोर के साथ समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं।

Bijli Sakhi Yojana UP 2022 के अनुसार, राज्य के 75 जिलों में बिजली बिल जमा करने के लिए 73 क्लस्टर-स्तरीय यूनियनों ने उत्तर प्रदेश बिजली बरहद आधिकारिक पोर्टल पर एजेंसियों के रूप में पंजीकरण कराया है। राज्य में अब तक चुनी गई 15,310 महिलाओं में से 5,395 सक्रिय सदस्यों ने बिजली बिलों में 625 करोड़ रुपये जमा किए हैं, जो इस योजना के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। जैसा कि आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिकों के बीच अगली अवधि में बिल जमा करने के लिए बहुत लोकप्रिय होगी।

बिजली सखी योजना से महिलाओं को रही आय प्राप्ति

ज्ञात हो कि इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को बिजली बिल भरने के लिए रोजगार के अवसर दिए गए हैं। इस योजना के तहत, अगर महिला अपनी आईडी के माध्यम से बिजली के लिए 2,000 रुपये से अधिक का भुगतान करती है, तो महिलाओं को जमा किए गए प्रति बिल 20 रुपये और 1% कमीशन प्राप्त होगा। आज तक, योजना से जुड़ी राज्य की महिलाओं ने अपने बिजली बिल जमा करने वाली नौकरियों के लिए कमीशन में $9.074 मिलियन कमाए हैं। यानी UP Bijli Sakhi Yojana राज्य में महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान कर बेहतर आय प्रदान करती है।

Uttar Pradesh Bijli Sakhi Yojana 2022 का उद्देश्य

राज्य सरकार के कार्यक्रम को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करना है। कार्यक्रम के तहत राष्ट्रीय स्वयं सहायता समूहों की 15,310 महिला सदस्यों का चयन किया गया। जिन्हें उत्तर प्रदेश में बिजली सखी योजना 2022 के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर बिजली बिल भुगतान करने का कार्य सौंपा जाएगा। इस काम के जरिए महिलाएं 8,000 रुपये से लेकर 10,000 रुपये तक कहीं भी कमा सकती हैं। अब यूपी बिजली सखी योजना के माध्यम से राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली बिल ऑनलाइन जमा करने की सुविधा दी जाएगी। नतीजतन, वहां रहने वाले नागरिकों को अपने बिजली बिलों का भुगतान करने के लिए लंबी लाइनों में इंतजार नहीं करना पड़ता है।

उत्तर प्रदेश बिजली सखी योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • यूपी बिजली सखी योजना 2020 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा शुरू की गई थी।
  • योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को बिजली बिल जमा करने के लिए रोजगार के अवसर प्रदान किए जाते हैं।
  • UP Bijli Sakhi Yojana 2022 में 15,310 महिला स्वयं सहायता समूह सदस्यों का चयन किया गया।
  • वर्तमान में, इस योजना में 5,395 महिलाएं भाग ले रही हैं, जिन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों से बिजली बिलों में 6.25 करोड़ रुपये एकत्र किए हैं।
  • योजना के तहत चयनित महिलाओं को बैंकिंग अनुप्रयोगों पर प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
  • बिजली सखी योजना यूपी के तहत बिजली सखी के रूप में काम करने वाली महिलाओं को अब तक 9,074,000 कमीशन मिल चुके हैं।
  • बिजली सखी को प्रति बिल 20 रुपये और 2000 रुपये से अधिक जमा पर 1% कमीशन मिलता है।
  • अब इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के नागरिक भी अपने बिजली बिल घर बैठे जमा कर सकते हैं। जिससे उन्हें बिजली बिल भरने के लिए लंबी लाइन में लगने के झंझट से भी निजात मिलेगी।
  • उत्तर प्रदेश में UP Bijli Sakhi Yojana शुरू करने का योगी सरकार का निर्णय बहुत ही सराहनीय है क्योंकि इस योजना के माध्यम से राज्य की हजारों महिलाओं को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।

Bijli Sakhi Yojana के तहत आवेदन हेतु पात्रता

  • योजना के तहत केवल महिलाएं ही आवेदन करने के पात्र हैं।
  • आवेदक महिला उत्तर प्रदेश की स्थायी निवासी होनी चाहिए।
  • इस कार्यक्रम का लाभ आपको राज्य सरकार द्वारा निर्धारित मापदंडों के अनुसार प्राप्त होगा।

UP Bijli Sakhi Yojana के आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  •  मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

UP Bijli Sakhi Yojana 2022 के तहत आवेदन प्रक्रिया

इच्छुक महिलाएं जो UP Bijli Sakhi Yojana 2022 के तहत आवेदन करना चाहती हैं। उन्हें अभी थोड़ा इंतजार करना होगा क्योंकि सरकार ने अभी इस योजना को शुरू करने की घोषणा की है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के तहत आवेदनों से संबंधित प्रक्रिया की घोषणा करने के बाद हम इस लेख के माध्यम से आपके साथ साझा करेंगे। तो कृपया इस लेख के लिए हमारे साथ संपर्क में रहें।

Leave a Comment