Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2022: Online Application, Registration Process

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना ऑनलाइन आवेदन | Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana Apply | मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना पंजीकरण प्रक्रिया | Rajasthan Kisan Mitra Urja Yojana Form

हमारे देश में किसानों की स्थिति अभी भी आर्थिक रूप से स्थिर नहीं है। सरकार समय-समय पर किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए कई प्रयास करती है। ताकि किसानों की आय बढ़ाई जा सके। राजस्थान सरकार किसानों की आय बढ़ाने के लिए तरह-तरह की योजनाएं लागू करती है। ऐसी ही एक योजना है Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana। इस योजना के माध्यम से किसानों के बिजली बिल पर सब्सिडी प्रदान की जाती है।

आज हम इस लेख के माध्यम से आपको इस योजना से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं। जैसे मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना (Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2022) का उद्देश्य, लाभ, सुविधाएँ, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। तो आप हमारी ओर से इस लेख को अंत तक पढ़ें।

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana

यह योजना राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा 9 जून 2021 को शुरू की गई है। मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना (Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana) के माध्यम से राज्य के मीटर किसान उपभोक्ताओं को बिजली बिल पर सब्सिडी प्रदान की जाती है। यह राशि अधिकतम ₹ 1000 प्रति माह और अधिकतम ₹ 12000 प्रति वर्ष है। इस योजना के तहत, विद्युत वितरण निगम सभी पात्र कृषि उपयोगकर्ताओं को द्विमासिक बिलिंग प्रणाली के आधार पर बिजली बिल प्रदान करेगा।

बिजली बिल का 60% मासिक देय है। यह राशि अधिकतम ₹ 1000 प्रति माह है। Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana का लाभ मई 2022 से सभी किसान उपभोक्ताओं तक पहुंचेगा। इस योजना के क्रियान्वयन पर सरकार की ओर से 1450 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana

कितने किसानों को पहुंचा योजना का लाभ

यह जानकारी राजस्थान के ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने 24 मार्च 2022 को दी थी कि राज्य में मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना चल रही है. नतीजतन, किसानों को बिजली बिल पर ₹1000 की मासिक छूट प्रदान की जाती है। इस योजना से अब तक 6 लाख किसान लाभान्वित हो चुके हैं। इसके अलावा उन्होंने यह भी जानकारी दी कि इस वर्ष 100 यूनिट तक बिजली की खपत करने वाले घरेलू बिजली उपभोक्ताओं को 50 यूनिट बिजली मुफ्त दी जाएगी। इसके अलावा, सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 150 यूनिट तक उपयोग करने पर ₹3 प्रति यूनिट और 150 से 300 यूनिट का उपयोग करने पर ₹2 प्रति यूनिट की सब्सिडी दी जाती है।

सरकार नियमित रूप से कृषि, बीपीएल, छोटे उपभोक्ताओं, टीएसपी उपभोक्ताओं के बिजली बिलों में बिजली दरों में सब्सिडी प्रदान करती है। इससे उपभोक्ता पर बोझ कम होता है। मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना मई 2022 से लागू की जाएगी।

Rajasthan Kisan Mitra Urja Yojana 2022 of Key Highlights

योजना का नाम मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना
किसने आरंभ की राजस्थान सरकार
लाभार्थी राजस्थान के कृषि
उद्देश्य बिजली के बिल पर अनुदान प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइट जल्द आरंभ की जाएगी
साल 2022
आवेदन का प्रकार ऑनलाइन/ऑफलाइन
राज्य राजस्थान
अनुदान राशि अधिकतम ₹1000 प्रतिमाह एवं ₹12000 प्रति वर्ष

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2022 अनुदान

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana के तहत वर्तमान में दी जा रही टैरिफ सब्सिडी के अलावा सामान्य वर्ग के कृषि उपभोक्ताओं और ग्रामीण क्षेत्रों में फ्लैट रेट कृषि उत्पाद श्रेणी के कृषि उपभोक्ताओं को अतिरिक्त सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी। यह अनुपूरक अनुदान ₹1000 प्रति माह होगा। 1 वर्ष में अधिकतम ₹12000 का अनुपूरक अनुदान प्रदान किया जाता है। यह अतिरिक्त अनुदान निम्नलिखित शर्तों के तहत प्रदान किया जाता है।

  • यह योजना तीनों बिजली वितरण कंपनियों में मई 2021 को बिलिंग और उसके बाद जारी कृषि बिलों पर लागू की जाएगी।
  • विद्युत वितरण निगम द्वारा बजट घोषणा के अनुपालन के आधार पर हर दो महीने में बिजली बिल जारी किया जाएगा।
  • इस अतिरिक्त सब्सिडी की राशि देश भर में केवल मीटर श्रेणी के कृषि उपभोक्ताओं और सामान्य श्रेणी के फ्लैट रेट के लिए प्रदान की जाती है।
  • यदि चालू बिलिंग माह में चालान तैयार करते समय कोई पूर्व बकाया नहीं है, तो बिजली बिल पर सब्सिडी राशि को इस परिपत्र के अनुसार समायोजित किया जाएगा।
  • उपभोक्ताओं को नियत तिथि पर बिजली बिल जमा करने के लिए प्रेरित किया जाएगा।
  • यदि किसी वित्तीय वर्ष में उपभोक्ता की टॉप-अप राशि ₹1000 से कम है, तो शेष समायोजन उसी वित्तीय वर्ष के अगले शेष माह में किया जाएगा।
  • यदि कोई नया कनेक्शन वर्ष के बीच में जारी किया जाता है, तो वार्षिक सब्सिडी सीमा आनुपातिक रूप से देय होगी।
  • सभी लाभार्थी किसानों की संख्या एवं उन्हें दिये जाने वाले अनुदान की जानकारी वित्त विभाग को मासिक आधार पर उपलब्ध करायी जायेगी।
  • विद्युत वितरण कंपनी को इस योजना के तहत प्रदान की जाने वाली अतिरिक्त सब्सिडी राशि और आगामी वित्तीय वर्ष के प्रस्ताव सहित जानकारी वित्त विभाग को देनी होगी। यह जानकारी बीएफसी मीटिंग के जरिए देनी होगी। ताकि वित्त विभाग द्वारा अनुदान राशि का प्रावधान सुनिश्चित किया जा सके।
  • अतिरिक्त सब्सिडी राशि प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को अपने बिजली बिल नंबर को आधार संख्या और बैंक खाता संख्या से जोड़ना होगा।
  • उपभोक्ता द्वारा बिजली का दुरूपयोग या बिजली की चोरी और कंपनी की संपत्ति को नुकसान की स्थिति में, स्टॉक एक्सचेंज की राशि का भुगतान उसके बरी होने के बाद या भुगतान के बाद अगले बिलिंग माह में किया जाएगा।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का शुभारंभ

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana का शुभारंभ राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी द्वारा 17 जुलाई 2021 को किया गया है। इस योजना का शुभारंभ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया है। इस वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से मुख्यमंत्री द्वारा 308 करोड़ रुपये की ऊर्जा विभाग की कई योजनाओं का उद्घाटन भी किया गया है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा किसानों को बिजली बिल पर ₹1000 प्रति माह की सब्सिडी प्रदान की जाती है। इस अनुदान का भुगतान सीधे किसान के बैंक खाते में किया जाता है।

इस योजना का लाभ मई 2021 से बिजली बिल पर उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यमंत्री द्वारा यह भी जानकारी दी गई है कि वर्ष 2024 तक सौर ऊर्जा का लक्ष्य भी प्राप्त कर लिया जाएगा। जिसमें 20000 मेगावाट बिजली पैदा करने का लक्ष्य रखा गया है। मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के कारण छोटे और मध्यम वर्ग के किसानों के लिए कृषि बिजली लगभग मुफ्त हो गई है। इस योजना के तहत सरकार सालाना 1450 करोड़ रुपये की राशि खर्च करेगी।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का उद्देश्य

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2022 का मुख्य उद्देश्य किसानों को बिजली बिल पर सब्सिडी प्रदान करना है। इस योजना के तहत किसानों को बिजली बिल पर अधिकतम 1000 रुपये प्रति माह की सब्सिडी राशि प्रदान की जाती है। ताकि किसानों को उनके बिलों का भुगतान करने में मदद मिल सके। इसके अलावा मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के माध्यम से किसानों को बिजली बचाने के लिए भी प्रोत्साहित किया जाएगा। जिसके लिए यदि किसान का बिल प्रति माह 1000 से कम है, तो ऐसी स्थिति में चालान राशि और सब्सिडी राशि के बीच का अंतर लाभार्थी के खाते में स्थानांतरित कर दिया जाता है।

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2022 के लाभ तथा विशेषताएं

  • मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 9 जून 2021 को राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा शुरू की गई थी।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के किसानों को सब्सिडी प्रदान की जाती है। ताकि उन्हें बिजली बिल भरने में मदद मिल सके।
  • यह छात्रवृत्ति राशि अधिकतम 1000 प्रति माह और अधिकतम ₹ 12000 प्रति वर्ष है।
  • विद्युत वितरण निगम द्वारा इस योजना के अंतर्गत द्विमासिक बिलिंग योजना के आधार पर सभी पात्र कृषि उपभोक्ताओं को विद्युत बिल जारी किया जायेगा।
  • इस योजना को शुरू करने की घोषणा मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी ने 2021 के बजट में की थी।
  • बिजली बिल का 60% हर महीने आनुपातिक आधार पर भुगतान किया जाएगा। यह अधिकतम 1000 प्रति माह होगा।
  • सभी किसान उपभोक्ता मई 2021 से इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • इस योजना के क्रियान्वयन पर सरकार 1450 करोड़ रुपये खर्च करेगी।
  • कृषि की बिजली वितरण कंपनी में बैकलॉग नहीं होने पर ही कृषि को इस योजना का लाभ मिल सकता है।
  • मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2022 का लाभ प्राप्त करने के लिए, लाभार्थी को अपने आधार नंबर को बैंक खाते से जोड़ना आवश्यक है।
  • यदि किसान द्वारा बकाया राशि का भुगतान किया जाता है, तो उस स्थिति में सब्सिडी राशि का भुगतान अगले बिजली बिल पर किया जाएगा।
  • यदि कृषि कम बिजली का उपयोग करती है और बिल ₹1000 से कम है, तो बिल राशि और सब्सिडी राशि के बीच के अंतर का भुगतान लाभार्थी के खाते में किया जाता है।
  • इस योजना के माध्यम से कृषि उपभोक्ताओं को भी बिजली बचाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana का लाभ केंद्र और राज्य सरकारों के कर्मचारी उपयोग नहीं कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना की पात्रता

  • आवेदक राजस्थान का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना से केवल राजस्थान के कृषि उपभोक्ता ही लाभान्वित हो सकते हैं।
  • Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana का लाभ केंद्र और केंद्र सरकार के कर्मचारी नहीं ले सकते।
  • यदि आप इस व्यवस्था का उपयोग करना चाहते हैं, तो अपने आधार नंबर को अपने खाते से लिंक करना अनिवार्य है।

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana में आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • निवास प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको अपने नजदीकी विद्युत विभाग में जाना होगा।
  • उसके बाद आपको वहां से Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana का आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • अब आपको आवेदन पत्र में मांगी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल पता आदि दर्ज करने की आवश्यकता है।
  • अब आपको आवेदन पत्र के साथ सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज संलग्न करने होंगे।
  • इसके बाद आपको यह आवेदन पत्र विद्युत विभाग को जमा करना होगा।
  • इस तरह आप मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं।

Leave a Comment