Meri Fasal Mera Byora 2021: मेरी फसल मेरा ब्यौरा

मेरी फसल  मेरा ब्यौरा हरियाणा | Meri Fasal Mera Byora 2021

आज हम आपको हरियाणा सरकार के द्वारा चलाए जा रही मेरी फसल मेरा ब्यौरा  के बारे में बातने जा रहे है। इसे पढ़कर आपको मेरी फसल मेरा ब्यौरा से संबंधित हर जानकारी मिलेगी। जैसे कि हरियाणा में मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना क्या है? इसका लाभ,उद्देश्य, विशेषताएं,पात्रता,आवेदन आदि। हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे। मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना आरंभ की गई है। इस योजना के द्वारा किसान अपनी फसल का ब्यौरा ऑनलाइन दर्ज कर सकते हैं हरियाणा सरकार मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल के माध्यम से यह सुनिश्चित करेगी कि राज्य सरकार द्वारा प्रदान किया गया बीमा कवर, प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल मुआवजा आदि किसानों को प्रदान किया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत है इस योजना के अंतर्गत आपको आवेदन भरने के लिए आपको कहीं भी जाने की जरूरत नहीं है। आपको यह वाले मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना की आधिकारिक पोर्टल पर जाना होगा इसके माध्यम से हरियाणा के किसानों को सॉरी सरकारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

Mukhyamantri Parivar Samridhi Yojana 2021: MMPSY

meri fasal mera byora

Meri Fasal Mera Byora In Highlights

योजना का नाम हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा
शुरू की गई मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा
उद्देश्य किसान और खेत का पंजीकरण
लाभार्थी राज्य के किसान
अधिकारिक वेबसाइट https://fasal.haryana.gov.in/

मेरी फसल मेरा ब्योरा पंजीकरण 2022

हम सभी जानते हैं कि मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल (Meri Fasal Mera Byora) का शुभारंभ हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा 5 जुलाई 2019 को किया गया था। इस पोर्टल को लांच करने का कारण यह था कि प्रदेश के सभी किसान आसानी से ऑनलाइन घर बैठे फसलों का ब्यौरा दर्ज करा सकें। प्रदेश सरकार का मकसद किसानों के लिए एक ही जगह पर खेती से जुड़ी जानकारी उपलब्ध कराना समस्याओं का हल करना और फसलों की जानकारी प्रदान करना है। केवल हरियाणा प्रदेश के ही किसानों को इस पोर्टल का लाभ मिलेगा।

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर गेहू के लिए ऑनलाइन पंजीकरण शुरू

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल (Meri Fasal Mera Byora) पर सरकार द्वारा गेहूं की खरीद की रजिस्ट्रेशन शुरू कर दी गई है रजिस्ट्रेशन करने के लिए किसान भाई को ऑनलाइन पोर्टल fasal.haryana.gov.in पर जाना होगा वहां गेहूं(रबी 2021 – 22) के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं। किसान भाई जितना जल्दी हो सके अपना रजिस्ट्रेशन कर ले अंतिम दिनों में पोर्टल पर अनेक प्रकार की समस्याएं आनी शुरू हो जाती है।

सभी जानते हैं कि गेहूं की फसल को काटने में अभी काफी समय है ऐसे में यदि किसान अपना पंजीकरण Meri Fasal Mera Byora पर करवा देते हैं तो उन्हें गेहूं बेचने में कोई समस्या नहीं आएगी। यदि कोई किसान भाई पंजीकरण के समय किसी प्रकार की समस्या पाता है तो किसान भाई कृषि विभाग के अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं। आधिकारिक वेबसाइट पर कृषि विभाग का टोल फ्री नंबर दिया होता है या आप अपने नजदीकी सीएससी सेंटर पर जाकर पंजीकरण करवा सकते हैं।

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा नयी घोषणा

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल Meri Fasal Mera Byora पर शुरुआत में केवल हरियाणा राज्य के किसान ही अपनी धान फसल दे सकते थे। किंतु अब सरकार द्वारा हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा मैं नई घोषणा के द्वारा हरियाणा के साथ-साथ अन्य दूसरे राज्यों के किसान भी अपनी धान फसल पोर्टल पर बेच पाएंगे। साथ में घोषणा की गई है कि पोर्टल पर केवल हरियाणा के किसान ही नहीं अपितु अन्य दूसरे राज्यों के किसान भी पोर्टल पर फसल पंजीकरण करा सकते हैं।

Parivar Pehchan Patra Yojana 2021 हरियाणा परिवार पहचान पत्र

 

सरकार द्वारा कॉल सेंटर की स्थापना

वह सभी किसान जो मेरी फसल मेरा ब्यौरा Meri Fasal Mera Byora के तहत अपनी फसल का पंजीकरण करा चुके हैं। उन सभी किसानों को कॉल सेंटर की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। जिन किसान भाइयों को फसल से जुड़ी समस्या या पंजीकरण से जुड़ी समस्या आती है वह कॉल के माध्यम से समस्या का समाधान कर सकते हैं। भुगतान के समय किसान के मोबाइल में s.m.s. के द्वारा उसे सूचित कर दिया जाएगा।

किसान फसल योजना हेतु पात्रता -2022

रिव्यू मीटिंग के माध्यम से दी गई जानकारी

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना को मेरा पानी मेरी विरासत योजना के साथ जोड़ने की जानकारी एक रिव्यू मीटिंग में श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा दी गई थी।इस मीटिंग के दौरान कृषि विभाग के अधिकारियों को मुख्यमंत्री जी के द्वारा यह निर्देश दिए गए है की सभी किसानों को इस योजना से जुड़ी हर एक जानकारी प्रदान की जाए। जिससे कि पानी की बचत की जा सके । मुख्यमंत्री जी ने यह भी कहा है कि किसानो को सब्जियां, दाल,सोयाबीन,गवार आदि की खेती करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाए।

Video Tutorial

Leave a Comment